बात चाहे कंप्यूटर की हो या लैपटॉप की , मोबाइल की हो या टैब की है या फिर किसी अन्य कनेक्टिंग डीवाईस की इन सबको वायरस इंफेक्टेड होने का खतरा तो रहता ही है आप चाहे इन डिवाइस का इस्तेमाल कितना भी संभल कर कर लें लेकिन वायरस किसी भी रुप से इंकार कर ही देते हैं !

नतीजा आपका वर्षों से सुरक्षित डाटा करप्ट और चोरी हो जाता है वायरस की इस सेंधमारी के चलते कई महत्वपूर्ण फाइलें लाख कोशिशों के बाद भी सच नहीं पाती कई बार पूरा सिस्टम ही फॉर्मेट करना पड़ता है जिनके कारण कंप्यूटर सिस्टम में कोई डाटा सस्ता कंप्यूटर तकनीक पर यह इंफेक्शन वायरस के अलावा स्पाइवेयर, रेन समवेयर और मालवीयर अधिक कई अन्य रूपों में मौजूद है जैसा कोई इंसान बैक्टीरिया वायरस आदि से बीमार होता है !

ठीक उसी तरह कंप्यूटर तकनीक वायरस इंफेक्टेड होता है जिसके कारण उसके पर्फॉर्मेंस धीमी हो जातीहै वायरस किसी इंफेक्टेड पेनड्राइव शिर्डी मेमोरी कार्ड जैसे किसी भी स्तोत्र से कनेक्ट होने पर हमला कर देते हैं इनके अलावा वायरस का सबसे बड़ा स्त्रोत्र इंटरनेट है !

कंप्यूटर हैकर्स लिए एंटीवायरस निर्माता कंपनियां अपने उत्पाद की बिक्री के लिए इंटरनेट पर वायरल छूटती है यदि आपका सिस्टम एंटीवायरस एस एस नहीं है तो यह वायरस आपके कंप्यूटर पर सेंधमारी कर देते हैं और इंटरनेट पर कई लाख वायरस मौजूद हैं इन वायरस के जरिए नेट पर आपका पर्सनल डाटा गलत हाथों में भी जा सकता !

Why antivirus is Essential for Computer/PC/MOBILE ? क्यों जरूरी  है एंटीवायरस ?
Why antivirus is Essential for Computer/PC/MOBILE ? क्यों जरूरी  है एंटीवायरस ?

वैक्सिंग है एंटीवायरस 

कंप्यूटर में अगर पहले से कोई एंटीवायरस सॉफ्टवेयर इंस्टॉल है तो यह बार-बार कंप्यूटर सिस्टम से वायरस स्कैन करते हैं वायरस मिलने पर एंटीवायरस सॉफ्टवेयर इंफेक्टेड फाइलों को डिलीट कर वायरस को कंप्यूटर सिस्टम से बाहर निकालते हैं 

एंटीवायरस दो प्रकार के होते हैं एक सिक्योरिटी सूट और दूसरा स्टैंडर्ड एंटीवायरस सिक्योरिटी सूट 

एंटीवायरस का कंपलीट पैकेज होता है जो फायरवाल स्पेक्ट्रम और mts प्राइवेट सभी को वायरस से सपोर्ट करता है वह इस टेंडर लोन वायरस क्वेश्चन पेपर स्केनर एलिमिनेट करने का काम करते हैं व्यक्तिगत इस्तेमाल के लिए इंटरनेट पर ढेरों फ्री एंटीवायरस मौजूद हैं !

इस  एंटीवायरस सिस्टम की पूरी सुरक्षा के लिए पर्याप्त नहीं होते वह भी एंटीवायरस सॉफ्टवेयर खरीदने से पहले उसका ट्रायल वर्जन जरूर इस्तेमाल करें इस ट्रायल उसे आप antivirus की परफॉर्मेंस से संतुष्ट हो सकते हैं हमेशा किसी प्रतिष्ठित कंपनी के एंटीवायरस इस्तेमाल करें सस्ते एंटीवायरस सिस्टम की सुरक्षा के लिए पूरी तरह कारगर नहीं होते
Axact

न्यूज़ टेक कैफ़े

यहां पर हम हिंदी में टी वी की नई जानकारियां उपलब्ध कराते हैं। कृपया हमारे ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।ादा से ज्यादा शेयर करें

Post A Comment:

0 comments: