टीवी एक्ट्रेस दिशा वाकाणी 37 साल की हो गई हैं। उनका जन्म 17 सितंबर 1978 को अहमदाबाद, गुजरात में हुआ था, लेकिन वे भावनगर में पली-बढ़ी हैं। वे तब से अभिनय जगत से जुड़ी हैं, जब वे स्कूल में पढ़ाई कर रही थीं। उन्होंने गुजरात कॉलेज, अहमदाबाद से ड्रामेटिक आर्ट्स में ग्रैजुएशन किया है।

दिशा वाकाणी को असली पहचान हिंदी सीरियल ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ से ही मिली, लेकिन इससे पहले वे गुजरात के कई पॉपुलर सीरियल्स में काम कर चुकी हैं। इन सीरियल्स में ‘देराणी-जेठानी’, ‘चाल चंदू परणी जोइए’, ‘लाली-लीला’, ‘अषाढ़ का एक दिन’, ‘बा रिटायर’, ‘खरां छो तमे’, ‘अलग छतां लगोलग’ और ‘सो दाहडा सासू’ शामिल हैं। जहां तक हिंदी सीरियल्स की बात है तो 'तारक मेहता...' के अलावा 'खिचड़ी' (2004) और 'इंस्टेंट खिचड़ी' (2005) में भी नजर आ चुकी हैं। हालांकि, इन दोनों ही शोज में उन्होंने एक अतिथि के रूप में अपनी भूमिका दर्ज कराई थी। दिशा अब तक 10 से ज्यादा टेली अवॉर्ड्स अपने नाम कर चुकी हैं।
Dayaben aka Disha Vakani Biography |Filmography |TMKOC  |Pics
Dayaben aka Disha Vakani Biography |Filmography |TMKOC  |Pics


भाई-बहन और पिता भी एक्टिंग की दुनिया में...

दिशा के पिता भीम वाकाणी भी जवानी के दिनों से एक्टिंग में सक्रिय हैं। वे अब तक कई गुजराती सीरियल व फिल्मों में काम कर चुके हैं। अब वे अहमदाबाद में ‘वाकाणी थिएटर्स’ के बैनर तले गुजराती नाटकों का निर्माण कर रहे हैं। भीम वाकाणी द्वारा तैयार किए गए कई सीरियल्स में दिशा के भाई मयूर व बड़ी बहन खुशाली काम कर चुके हैं।
 दिशा के भाई मयूर ने स्कल्पचर का कोर्स किया है और उनका नाम गुजरात के जाने-माने शिल्पकारों में शुमार है। इसके अलावा उन्हें एक्टिंग का भी शौक है और वे कई गुजराती सीरियल्स में मुख्य भूमिका में भी नजर आ चुके हैं। वहीं, दिशा की बड़ी बहन खुशाली तो अब गुजराती थिएटर का जाना हुआ नाम हैं। दिशा के भाई मयूर वाकाणी की शादी हो चुकी हैं और उनके दो बच्चे हैं। मयूर की पत्नी का नाम हेमाली है। बता दें कि मयूर 'तारक मेहता...' में भी दया भाभी (दिशा वाकाणी) के भाई सुंदर के रोल में दिखाई दे रहे हैं।

दिशा ने फिल्मों में भी किया काम

दिशा वाकाणी केवल टीवी सीरियल्स तक सीमित नहीं हैं, वे बॉलीवुड की कुछ फिल्मों में भी काम कर चुकी हैं। 'कमसिन : द अनटच्ड' (1997), 'फूल और आग' (1999), 'देवदास' (2002), 'मंगल पांडे : द राइजिंग' (2005), 'सी कंपनी' (2008) और 'जोधा अकबर' (2008) में उनकी अदाकारी देखी जा सकती है।

Axact

न्यूज़ टेक कैफ़े

यहां पर हम हिंदी में टी वी की नई जानकारियां उपलब्ध कराते हैं। कृपया हमारे ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।ादा से ज्यादा शेयर करें

Post A Comment:

0 comments: