1. भारत और श्रीलंका ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी तथा भारत यात्रा पर आये श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्र‍मसिंघे की बातचीत के दौरान चार समझौतों पर हस्‍ताक्षर किये। ये समझौते हैं-- श्रीलंका में आपात एम्‍बुलेंस सेवाओं की शुरुआत और श्रीलंका में वावुनिया के जिला अस्‍पताल में 200 बिस्‍तरों के वार्ड के लिए चिकित्‍सा उपकरणों की आपूर्ति, सार्क क्षेत्र उपग्रह प्रौद्योगिकी का आदान-प्रदान सहयोग तथा भारत सरकार के संरक्षण में लघु उद्योग कार्यक्रमों का कायाकल्प। दोनों देश आतंकवाद से मुकाबला करने में आपसी सहयोग बढ़ाने और पूरे क्षेत्र की सुरक्षा और स्थिरता के लिए मिलकर काम करेने पर सहमत हुए।

2. भारत और कंबोडिया ने पर्यटन और मेकांग गंगा सहयोग परियोजना से संबंधित दो समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। नोम पेन्ह में पीस पैलेस में उप-राष्ट्रपति मोहम्मद हामिद अंसारी तथा कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत होने के बाद समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए थे। उपराष्‍ट्रपति मोहम्‍मद हामिद अंसारी दक्षिण पूर्व एशियाई देशों- कम्‍बोडिया और लाओस की चार दिन की यात्रा पर गए हैं।

3. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ग्रामीण क्षेत्रों को आर्थिक, सामाजिक और भौतिक रूप से सतत जीवनयापन स्थानों में बदलने के लिए 5142.08 करोड़ रुपए के परिव्यय के साथ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ररबन मिशन (एसपीएमआरएम) को मंजूरी दे दी है। मिशन का उद्देश्य ग्रामीण विकास कल्सचरों, जिनमें विकास की क्षमता है, को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में विकसित करना है, जो क्षेत्र में समग्र विकास को गति प्रदान करेगा।

4. पूर्वी चीन के झेंजियांग प्रांत की राजधानी होंगझोऊ को एशिया ओलंपिक परिषद (ओसीए) द्वारा 2022 के एशियाई खेलों की मेजबानी के लिए चुना गया। ओसीए ने तुर्कमेनिस्तान की राजधानी अश्काबाद में अयोजित 34वीं कांग्रेस में यह निर्णय लिया। होंगझोऊ 2022 एशियाई खेलों के लिए अकेला उम्मीदवार शहर था। इसकी सफल दावेदारी का अर्थ है कि चीन में बीजिंग और ग्वांगझोऊ के बाद तीसरी बार एशियाई खेलों का आयोजन होगा। बीजिंग में साल 1990 और दक्षिण ग्वांझोऊ में साल 2010 में एशियाई खेलों का आयोजन किया गया था। बीजिंग में 2022 शीतकालीन ओलंपिक खेलों का आयोजन होगा। इससे पहले बीजिंग ने साल 2008 में ग्रीष्मकालीन खेलों की मेजबानी की थी। दक्षिण कोरिया के इंचियोन में साल 2014 में एशियाई खेलों का आयोजन किया गया था, जबकि इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में 2018 एशियाई खेलों का आयोजन होगा।

5. अमेरिकी रक्षा मुख्यालय पेण्टागन ने भारत के साथ अपने रक्षा सम्बन्धों को मजबूत करने के उद्देश्य से अपनी तरह का पहला विशेष सेल (प्रकोष्ठ) स्थापित किया है। इण्डिया रैपिड रिएक्शन सेल (आईआरआरसी) पेण्टागन के इतिहास में स्थापित किया जाने वाला ऐसा पहला विशेष प्रकोष्ठ है जिसे भारत के साथ सैन्य सम्बन्धों को ध्यान में रखते हुए स्थापित किया गया है। इसके द्वारा अमेरिका भारत के साथ उच्च प्रौद्यौगिकी वाले रक्षा विकास तथा उत्पादन के क्षेत्र में सहयोग को और आगे ले जाना चाहता है। इस विशेष सेल की जिम्मेदारी कीथ वेबस्टर को सौंपी गई है, जो रक्षा विभाग में अवर सचिव हैं। 

6. कर्नाटक गोल्फ संघ (केजीए) ने भारत की 17 वर्षीय एमेच्योर गोल्फर अदिति अशोक को उनकी हालिया उपलब्धियों के लिए 'एक्सिलेंस इन गोल्फ इन 2015' पुरस्कार से सम्मानित किया। उनकी पिछले सप्ताह की उपलब्धियों में सिघा थाईलैंड एमेच्योर चैम्पियनशिप, 2015 ब्रिचिश लेडीज एमेच्योर स्ट्रोकप्ले चैम्पियनशिप और 2015 सेंट रूल ट्राफी शामिल हैं। केजीए अध्यक्ष वेंकट सुब्रमण्यम ने कर्नाटक में आयोजित सातवें टोयोटा कर्नाटका गोल्फ महोत्सव के पुरस्कार वितरण समारोह में स्थानीय गोल्फ खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया। 
17 September 2015 Current Affair Updates | Daily GK Download
17 September 2015 Current Affair Updates | Daily GK Download
7. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को संयुक्त राष्ट्र चैंपियन्स ऑफ द अर्थ अवॉर्ड पुरस्कार के प्राप्तकर्ताओं में से एक घोषित किया गया है। जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए उनके देश द्वारा की गई पहलों के लिए उन्हें ये पुरस्कार दिया गया है। संयुक्त राष्ट्र चैंपियन्स ऑफ द अर्थ अवॉर्ड पुरस्कार पर्यावरण संरक्षण जगत में संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पुरस्कार है। 

8. चीन ने देश की हाई-डेफिनिशन पृथ्वी अवलोकन परियोजना के तहत अपने सबसे अत्याधुनिक पर्यवेक्षण उपग्रह गाओफेन-9 उपग्रह का प्रक्षेपण किया। गाओफान-9 को उत्तर-पश्चिम प्रांत गांसू के जिउक्विउआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से एक लॉन्ग मार्च-2डी कैरियर रॉकेट से छोड़ा गया। यह लॉन्ग मार्च रॉकेट श्रेणी की 209वीं उड़ान थी। ऑप्टिकल रिमोट सेंसिंग उपग्रह एक मीटर से कम रिज्योलूशन के फोटोग्राफ भेजने में सक्षम है। इसका इस्तेमाल भूमि सर्वेक्षण, शहरी योजना, सड़क नेटवर्क डिजाइन, कृषि व आपदा राहत में किया जाएगा।

9. भारत के दो शिक्षा संस्थान को ‘2015-16 क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग के वर्ल्ड टॉप-200’ में शामिल किया गया है। यह वार्षिक वैश्विक विश्वविद्यालय रैंकिंग सूची की श्रृंखला का 12वां संस्करण है। रैंकिंग में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस-बंगलुरु (आईआईएससी-बी) को 147वां स्थान मिला है एवं इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी- दिल्ली (आईआईटी-डी), 179वें स्थान पर है। मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (एमआईटी) दुनिया की शीर्ष यूनिवर्सिटियों में चौथी बार पहले स्थान पर आया है। दूसरे स्थान पर हार्वर्ड यूनिवर्सिटी है। तीसरा स्थान संयुक्त रूप से स्टैनफोर्ड और कैंब्रिज यूनिवर्सिटी को मिला है।

10. तमिलनाडु राज्य सरकार ने नई नीति घोषित की जिसके तहत राज्य की सभी ऊँची इमारतों में सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करना आवश्यक होगा। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता द्वारा राज्य की विधानसभा में घोषित की गई नई नीति के अनुसार अब से राज्य में बनाई जाने वाली नई मल्टी-स्टोरी इमारतों (4 मंजिल से ऊँची) में सौर ऊर्जा संयंत्र को स्थापित करना वैधानिक रूप से अनिवार्य होगा। इस नीति को उन इमारतों पर भी लागू किया जायेगा जिसमें आठ से अधिक रिहायशी इकाइयाँ होंगी। माना जा रहा है कि यह नीति चेन्नई तथा कोयम्बटूर जैसे शहरों में स्थापित हो रही 90% नई रिहायशी और वाणिज्यिक इमारतों पर लागू हो जायेगी। यह भारत में अपनी तरह की पहली सौर ऊर्जा नीति है।
Axact

न्यूज़ टेक कैफ़े

यहां पर हम हिंदी में टी वी की नई जानकारियां उपलब्ध कराते हैं। कृपया हमारे ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।ादा से ज्यादा शेयर करें

Post A Comment:

0 comments: